तुम

तुझमें बसी है जान मेरी,
ना ऐसे नजरें फिराया करो,
मचल जाती है यह धड़कन,
जब आवाज़ देकर तुम यूँ ही गुजर जाओ!!

Advertisements